Hindi Poems| Hindi Kavita| Kavisammelan| Poems In Hindi

Total: 775

Skip Navigation Links
              
home


आम-चुनाव-2017-U.P.-SP+CONG

रणभेदी का शंख बजा
सोया यू पी जाग उठा
ली अंगडाई मस्ती में
देखा दो-दो यूवराजों को
लोगों के आंसू पोछते
लोगों की बस्ती में



home


आम-चुनाव-2017-यू.पी .BJP

भा--भाग्य में आपको अपनें
ज---जबरजस्त सुख-समृद्धि
पा---पाना है
आपको जबरजस्त वोटों से
भाजपा को जिताना है



home


आम-चुनाव---------- BSP

हांथी आएगा हांथी आएगा
आएगा हांथी झूम के
लाएगा हांथी लाएगा हांथी
जीत की कुर्सी
उस कुर्सी पर
बहनजी बैठेंगी झूम के



home


आम-चुनाव------------1.

दिखा गये थे वो ऐसे सपनें
की, आॉखों से नींद चले गये
बरस पांच-रात्री हम रहे तडपते
वे ऐशो-आराम में लगे रहे



Add  0